Yudh Shayari in Hindi - युद्ध शायरी

दोस्तों युद्ध किसी भी समस्या का स्थाई समाधान नहीं होता और अगर युद्ध के स्थान पर शांति हो तो ये दुनिया कितनी हसीन होगी। कहते हैं उसने ही पूरी दुनिया को अपने कदमों में झुकाया है, जिसने जिंदगी के युद्ध में खुद पर विजय पाया है। तो चलिए पढ़ते हैं कुछ ऐसी ही बेहतरीन War Shayari या Yudh Shayari जो आपके दिल को छू लेगी।

Yudh Shayari in Hindi
युद्ध शायरी

(1)

जब युद्ध में तुम शहीद हुए थे
तो ना जाने कैसे तुम्हारी माँ सोई होगी
एक बात तो तय है
तुम्हे लगने वाली गोली भी सौ बार रोई होगी 😞


(2)

जो अपने देश के लिए शहीद हुए
उनको मेरा सलाम है
अपने खून से जिसने जमीं को सींचा
उन बहादुरों को सलाम है 🙏


(3)

कभी कड़ाके की ठंड में ठिठुर के देखना
कभी तपती धुप में चल के देखना
कैसे होती है हिफाजत अपने देश की
जरा सरहद पर जाकर देखना….


(4)

वतन वालो वतन ना बेच देना
ये धरती ये चमन ना बेच देना
शहीदों ने जान दी है युद्ध में वतन के वास्ते
शहीदों के कफन ना बेच देना…


(5)

मर जाता है हृदय का विश्वास,
युद्ध लाता है इतना ज्यादा विनाश,
मानवता भी शर्मा जाती है जब
इंसान ही इंसान का करता है नाश 😞


(6)

वीरों के लिए युद्ध अंतिम विकल्प होता है,
कायरों के लिए युद्ध प्रथम विकल्प होता है….


(7)

मुझे नहीं पता कि तीसरा विश्व युद्ध
किन हथियारों से लड़ा जाएगा,
लेकिन चौथा विश्व युद्ध लाठी और
पत्थरों से लड़ा जाएगा….
अल्बर्ट आइंस्टीन


(8)

युद्ध यह तय नहीं करता है कि
कौन सही है और कौन गलत है…
युद्ध यह तय करता है कि कौन बचा है…


(9)

इंसान से इंसान क्रुद्ध ना हो,
अब इस जहाँ में कोई युद्ध ना हो…


(10)

फिर उड़ गई नींद मेरी यह सोचकर
कि जो शहीदों का बहा
वो खून मेरी नींद के लिए था 🙏