Umeed Shayari in Hindi - उम्मीद शायरी

Umeed Shayari in Hindi

(1)

अपने सीने से लगाए हुए उम्मीद की लाश
मुद्दतों जीस्त को नाशाद किया है मैंने
तूने तो एक ही सदमे से किया था दो-चार
दिल को हर तरह से बर्बाद किया है मैंने…


(2)

इस उम्मीद से मत फिसलो
कि तुम्हें कोई उठा लेगा
सोच कर मत डूबो दरिया में
कि तुम्हें कोई बचा लेगा…
ये दुनिया तो एक अड्डा है
तमाशबीनों का दोस्तों…
गर देखा तुम्हें मुसीबत में तो
यहां हर कोई मज़ा लेगा…


(3)

आज तक है उसके लौट आने की उम्मीद
आज तक ठहरी है ज़िंदगी अपनी जगह
लाख ये चाहा कि उसे भूल जाये पर
हौंसले अपनी जगह बेबसी अपनी जगह…


(4)

बिछड़ के तुम से ज़िंदगी सज़ा लगती है
यह साँस भी जैसे मुझ से ख़फ़ा लगती है
तड़प उठता हूँ दर्द के मारे
ज़ख्मों को जब तेरे शहर की हवा लगती है
अगर उम्मीद-ए-वफ़ा करूँ तो किस से करूँ
मुझ को तो मेरी ज़िंदगी भी बेवफ़ा लगती है…


(5)

एक अजीब दास्तान है मेरे अफसाने की
मैने पल पल कोशिश उसके की पास जाने की
किस्मत थी मेरी या साजिश थी ज़माने की
दूर हुई मुझसे इतना जितनी उमीद थी करीब आने की..

Umeed Bhari Shayari

(6)

Teri Judai Mein Yu Aansu Bahate Rehte Hai
Umeed Ke Diye Aandhiyon Se Bachaye Rehte Hai
Chahat Hai Kewal Tujhse Pyar Paane Ki
Iss Chahat Ko Hi Ek Aas Banaye Rehte Hai…


(7)

Karib Itna Raho Ki Rishton Mein Pyar Rahein
Dur Bhi Itna Raho Ki Aane Ka Intejaar Rahein
Rakho Umeed Rishton Ke Darmiyan Itni
Ki Tut Jayein Umeed Magar Rishte Barkarar Rahein…


(8)

Wafaa Ke Badle Bewafayi Naa Diya Karo
Meri Umeed Thukra Ke Inkaar Naa Kiya Karo
Teri Mohabbat Me Hum Sab Kuch Kho Bethe
Jaan Chali Jayegi Yu Imtihaan Naa Liya Karo….


(9)

Woh Aur Honge Log
Zindagi Jinhe Raas Aayi
Apna To Woh Haal Hai Gaalib
Har Aas Tooti
Har Umeed Charmarayi
Hum Pe Aake Sab Haari
Kya Neki Kya Badi Aur Kya Khudayi….


(10)

Phir Se Woh Sapna Sajane Chala Hun
Umeedon Ke Sahare Dil Lagane Chala Hun
Anzaam To Mera Bura Hi Hoga
Phir Bhi Tumhe Apna Banane Chala Hun….