Taqdeer Shayari in Hindi - तकदीर शायरी

Taqdeer Shayari in Hindi

(1)
तमन्नाओ की महफ़िल तो हर कोई सजाता है,
पूरी उसकी होती है जो तकदीर लेकर आता है…


(2)
कभी गम तो कभी ख़ुशी देखी,
हमने अक्सर मजबूरी और बेकसी देखी,
उनकी नाराज़गी को हम क्या समझें,
हमने तो खुद अपनी तकदीर की बेबसी देखी…


(3)
कुछ इस तरह बुनेंगे हम अपनी तकदीर के धागे,
कि अच्छे अच्छो को झुकना पड़ेगा हमारे आगे…


(4)
कितने मज़बूर है हम तकदीर के आगे…
ना तुम्हे पाने की औकात रखते हैं और
ना तुम्हे खोने का हौसला…


(5)
जान कर भी वो मुझे जान न पाए,
आज तक वो मुझे पहचान न पाए,
खुद ही कर ली बेवफाई हमने,
ताकि उन पर कोई इलज़ाम न आये…


(6)
कभी जो मुझे हक मिला अपनी तकदीर लिखने का
कसम खुदा की तेरा नाम लिख कर कलम तोड दूंगा…


(7)
ख़ुदा तूने तो लाखों की तकदीर संवारी है,
मुझे तसल्ली तो दे के अब मेरी बारी है…


(8)
हसरतो की महफ़िल तो हर कोई सजाता है,
पूरी उसी की होती है जो तकदीर लेकर आता है…


(9)
मेरे ही हाथों पे लिखी है तकदीर मेरी,
और मेरी ही तकदीर पर मेरा बस नहीं चलता…


(10)
नमक तुम हाथ में लेकर, सितमगर सोचते क्या हो,
हजारों जख्म है दिल पर, जहाँ चाहो छिड़क डालो…