Shayari Ki Diary - शायरी की डायरी

Shayari Ki Diary

Shayari Ki Diary | शायरी की डायरी

(1)
अपना वजूद ऐसा बनाओ कि कोई
आपको छोड़ तो सके पर भुला ना सके…


(2)
जितना बड़ा सपना होगा, उतनी बड़ी तकलीफें होंगी,
जितनी बड़ी तकलीफें होंगी, उतनी बड़ी कामयाबी होगी…


(3)
हौंसले भी किसी हकीम से कम नहीं होते,
हर तकलीफ में ताकत की दवा देते हैं…


(4)
फिर से प्रयास करने से नहीं घबराना,
क्योंकि इस बार शुरुआत शून्य से नहीं अनुभव से होगी…


(5)
घर के दरवाज़े पर घोड़े की नाल लगाने से सफलता नहीं मिलती,
सफलता के लिए खुद के दोनों पैरों में घोड़े की नाल लगानी पड़ती है…


(6)
किसी के दिल में बसना कुछ बुरा तो नहीं,
किसी को दिल में बसाना कोई खता तो नहीं,
गुनाह हो यह ज़माने की नजर में तो क्या,
यह ज़माने वाले कोई खुदा तो नही…


(7)
हम आपकी हर चीज़ से प्यार कर लेंगे,
आपकी हर बात पर ऐतबार कर लेंगे,
बस एक बार कह दो कि तुम सिर्फ मेरे हो,
हम ज़िन्दगी भर आपका इंतज़ार कर लेंगे…


(8)
तेरे ख्याल से खुद को छुपा के देखा है,
दिल-ओ-नजर को रुला-रुला के देखा है,
तू नहीं तो कुछ भी नहीं है तेरी कसम,
मैंने कुछ पल तुझे भुला के देखा है…


(9)
जब हमारे इश्क़ के पागलपन का टेस्ट होगा न तो…
हमारी रिपोर्ट पॉजिटिव ही आएगी…

Read More - Mahila Sangeet Shayari


(10)
नाराज़गी बहुत नाज़ुक होती है,
प्यार का स्पर्श मिलते ही ढ़ेर हो जाती है…

(11)

जिन्हें ख्वाब देखना अच्छा लगता है उन्हें रात छोटी लगती है,
और जिन्हें ख्वाब पूरे करना अच्छा लगता है उन्हें दिन छोटा लगता है…


(12)
बुरा वक़्त तो आता जाता रहता है लेकिन हिम्मत और हौंसला एक बार गया तो वो वापस नहीं आता है…
इसीलिये सदैव बुरे वक़्त से लड़ते रहें!


(13)
कामयाब होने के लिए मेहनत पर यकीन करना होगा,
किस्मत तो जुए में आजमाई जाती है ….


(14)
बड़ी बड़ी बातें तो सब करते हैं,
लेकिन बड़ी बातों को पूरा करने का दम किसी किसी में ही होता है…


(15)
प्यार वो चीज़ है जो बचपन में मुफ्त मिलता है,
जवानी में कमाना पड़ता है,
बुढ़ापे में माँगना पड़ता है…

(16)
सच्चे वाले दोस्त वह होते हैं,
जिन्हें दो गाली ना दो तो पूछते हैं “भाई नाराज है क्या तू?”


(17)
देखी जो नब्ज़ मेरी तो हँस कर बोला हकीम,
कि तेरे मर्ज़ का इलाज़, महफ़िल है दोस्तों की…


(18)
ज़िन्दगी के कुछ उलझे सवालों से डर लगता है,
दिल की तन्हाइयों से डर लगता है…
ज़िन्दगी में एक सच्चा दोस्त तो मिल पाना मुश्किल होता है,
पर एक सच्चे दोस्त को खोने से डर लगता है…


(19)
जो दिल के हो करीब उसे रुसवा नहीं करते,
यूँ अपनी दोस्ती का तमाशा नहीं करते;
खामोश रहोगे तो घुटन और बढ़ेगी,
अपनों से कोई बात छुपाया नहीं करते…


(20)
दोस्ती कभी बड़ी नहीं होती, निभाने वाले बड़े होते हैं…