Shaheed Diwas Shayari in Hindi - शहीद दिवस शायरी

Shaheed Diwas Shayari in Hindi

भारत में 30 जनवरी, 14 फरवरी, 23 मार्च, 21 अक्टूबर, 17 नवम्बर व 19 नवम्बर शहीद दिवस के रूप में मनाई जाती है…

(1)

आज तिरंगा फहराता है अपनी पूरी शान से,
हमें मिली आज़ादी वीर शहीदों के बलिदान से…


(2)

चलो फिर से आज वो नजारा याद करले,
शहीदों के दिलो में थी जो वो ज्वाला याद करले,
जिसमे बहकर आजादी पहुची थी किनारे पे,
देशभक्ति के खून की वो धारा याद करले…


(3)

नमन करो शहीदों को,
जो देश पर कुर्बान हुए,
सिर्फ दो दिनों की मोहताज नहीं है देश भक्ति,
नागरिकों की एकता ही है देश की असल शक्ति…


(4)

मैं जला हुआ राख नहीं, अमर दीप हूँ,
जो मिट गया वतन पर, मैं वो शहीद हूँ…


(5)

वीर शहीदों की गाथायें, तुमको आज सुनाता हूँ,
तूफानों में डटे रहे जो , उनको शीश झुकाता हूँ…

(6)

हर किसी के दिल पे एक दास्तां लिख जाऊंगा,
जाते जाते में जमी को आसमां लिख जाऊंगा,
अगर किसी ने देखा आँख भर के मेरे हिंद को,
सरहदों पर खून से हिन्दुस्तान लिख जाऊंगा…


(7)

ज़माने भर में मिलते है आशिक़ कई,
मगर वतन से खुबसूरत कोई सनम नहीं होता,
नोटों में भी लिपट कर,
सोने में सिमटकर मरे है कई,
मगर तिरंगे से खुबसूरत कोई कफन नहीं होता…


(8)

आओ झुक कर सलाम करे उनको,
जिनके हिस्से मे ये मुकाम आता है,
खुसनसीब होता है वो खून,
जो देश के काम आता है…


(9)

जशन आज़ादी का मुबारक हो देश वालो को,
फंदे से मोहब्बत थी हम वतन के मतवालो को…


(10)

सैकड़ों परिंदे असमान पर आज नजर आने लगे,
शहीदों ने दिखाई है राह उन्हें आज़ादी से उड़ने की…

Shaheed Diwas Status in Hindi

(11)

इतनी सी बात हवाओ को बताये रखना,
रौशनी होगी चिरागो को जलाये रखना,
लहू देकर की है जिसकी हिफाजत हमने,
ऎसे तिरंगे को हमेशा अपने दिल मे बसाये रखना…


(12)

किसी गजरे की ख़ुशबू को महकता छोड़ के आया हूँ,
मेरी नन्ही से चिड़िया को चहकता छोड़ के आया हूँ,
मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना ऐ भारत माँ,
मैं अपनी माँ की बाहों को तरसता छोड़ के आया हूँ…


(13)

मिलते नही जो हक वो लिए जाते हैं,
है आजाद हम पर गुलाम किये जाते हैं,
उन शहीदों को रात-दिन नमन करो,
मौत के साए में जो जिए जाते हैं…


(14)

देश के उन वीर जवानों को सलाम,
जो सुरक्षा का एहसास दिलाते हैं,
जो हथेली पर रखकर जान हमारी,
हिफाजत का जिम्मा उठाते हैं…


(15)

आओ देश का सम्मान करे,
शहीदों की शहादत याद करे,
नमन करे उन भारत के वीर सपूतो को,
जिन्होंने मातृ-भूमि की खातिर बलिदान दिया,
फिर एक बार अपने राष्ट्र की कमान हम अपने हाथ धरे,
आओ शहीदों को प्रणाम करे…