School Life Shayari in Hindi - स्कूल लाइफ शायरी

School Life Shayari in Hindi
स्कूल लाइफ शायरी

ज़िन्दगी के सारे दुख दर्द आज भूल जाते है,
चलो फिर से आज बचपन वाले स्कूल जाते है…


एक बचपन का जमाना था,
जिस में खुशियों का खजाना था,
थक कर आना स्कूल से,
पर खेलने भी जाना था…


बचपन के दिन भी कितने अच्छे होते थे,
तब दिल नहीं सिर्फ खिलौने टूटा करते थे,
अब तो एक आंसू भी बर्दाश्त नहीं होता,
और बचपन में जी भरकर रोया करते थे…


फिर से काश वही तक़दीर मिल जाये,
ज़िन्दगी के वो सारे हसी पल मिल जाये,
बेठे चल आज फिर से क्लास की लास्ट बेच पर,
क्या पता शायद वो पुराने दोस्त मिल जाये…


जिन्दगी जीने का कोई उसूल,
नही होता है दोस्ती सिखाने,
का कोई स्कूल नही होता है…

हस्ते हुए रो देता हु मै जब स्कूल की मस्ती,
याद आती है क्या जबरदस्त दिन थे वो,
जब ज़िम्मेदारिया नही सिर्फ मस्ती थी…


मिल जाये काश वो स्कूल के पल,
एक बार फिर से नही चाहये और
कुछ भी मुझे इस मतलबी ज़िदगी से…


स्कूल की दोस्ती बड़ी ही ख़ास होती है,
स्कूल खत्म होने के बाद भी वो साथ होती है…


दिल में वो स्कूल वाली तरंगें उठती है,
जब साथ में पढ़े, पुराने दोस्त मिलते है…


स्कूल का वो बस्ता मुझे फिर से थमा दे माँ,
जिंदगी का सफ़र मुझे बड़ा मुश्किल लगता है…

*** तो दोस्तों आशा करते हैं आपको हमारी ये पोस्ट स्कूल लाइफ शायरी पसंद आयी होगी अपने विचार कमेंट सेक्शन में जरूर लिखें।***