Sache Pyar Ki Shayari - सच्चे प्यार की शायरी

Sache Pyar Ki Shayari in Hindi

(1)

प्यार करते हो मुझसे तो इज़हार कर दो,
अपनी मोहब्बत का ज़िकर आज सरे आम कर दो,
नहीं करते अगर सच्ची मोहब्बत तो इंकार कर दो,
ये लो मेरा नादान दिल इसके टुकड़े हज़ार कर दो…


(2)

ना तीर न तलवार से मरती है सचाई,
जितना दबाओ उतना उभरती है सचाई,
ऊँची उड़ान भर भी ले कुछ देर को फ़रेब,
आख़िर में उसके पंख कतरती है सचाई…


(3)

जिन्दगी में किसी का साथ काफी है,
कंधे पर किसी का हाथ काफी हैं,
दूर हो या पास फ़र्क नही पड़ता,
सच्चे रिश्तों का तो बस एहसास काफ़ी हैं…


(4)

याद में तेरी आँहें भरता है कोई,
हर सांस के साथ तुझे याद करता है कोई,
मौत तो सच्चाई है आनी ही है,
लेकिन तेरी जुदाई में हर रोज़ मरता है कोई…


(5)
नाराज क्यूँ होते हो किस बात पे हो रूठे,
अच्छा चलो ये माना तुम सच्चे हम ही झूठे,
कब तक छुपाओगे तुम हमसे हो प्यार करते,
गुस्से का है बहाना दिल में हो हम पे मरते…

सच्चे प्यार की शायरी

(6)

जिन्दगी में किसी का साथ काफी है,
कंधे पर किसी का हाथ काफी हैं,
दूर हो या पास फ़र्क नही पड़ता,
सच्चे रिश्तों का तो बस एहसास काफ़ी हैं…


(7)

चाँद का क्या कसूर अगर रात बेवफा निकली,
कुछ पल ठहरी और फिर चल निकली,
उन से क्या कहे वो तो सच्चे थे शायद,
हमारी तकदीर ही हमसे खफा निकली…


(8)

सच्ची मोहब्बत भी हम करते है,
वफ़ा भी हम करते है,
भरोसा भी हम करते है,
और आखिर में तन्हा जीने
की सजा भी हमे ही मिलती है…


(9)

मौसम की बहार अच्छी हो,
फूलो की कलिया कच्ची हो,
हमारी ये दोस्ती सच्ची हो,
रब बस एक दुआ है मेरे दोस्त की हर शाम अच्छी हो…


(10)

याद में तेरी आँहें भरता है कोई,
हर सांस के साथ तुझे याद करता है कोई,
मौत तो सच्चाई है आनी ही है,
लेकिन तेरी जुदाई में हर रोज़ मरता है कोई…