Raat Shayari in Hindi - रात शायरी

Raat Shayari in Hindi

(1)

तन्हाईयों में मुस्कुराना भी इश्क है,
एक बात को सबसे छुपाना भी इश्क है,
यू तो नींद नहीं आती हमें रात भर,
मगर सोते-सोते जागना और जागते-जागते सोना इश्क है…


(2)

नींद नही आती जागती हू मैं,
तेरे इंतज़ार में तड़पती हू मैं,
आ तुझे बता दू तू जरुरत है मेरी,
कैसे न कहू की तू मुहब्बत है मेरी…

Raat Shayari Romantic

(3)

नींद से क्या शिकवा जो आती नही रात भर,
कसुर तो उन सपनों का है जो सोने नही देते…


(4)

वो इश्क़ ही क्या…
जो एक दूसरे की यादों में,
रात भर करवटें ना बदले…!!


(5)

कभी नींद नहीं आती है,
आज सोने को “मन” नहीं करता,
कभी छोटी सी बात पर आंसू बह जाते है,
आज रोने तक का “मन” नहीं करता…

(6)

यह सोच कर सब को याद कर के सोते है हम,
पता नहीं ज़िन्दगी मैं कौन सी रात आखरी हो…


(7)

रात तो क्या पूरी जिन्दगी भी,
जाग कर गुजार दूँ तेरी खातिर,
बस तू एक बार कह कर तो देख कि,
मुझे तेरे बिना नींद नही आती…


(8)

कहीं किसी रोज़ यूँ भी होता,
हमारी हालत तुम्हारी होती,
जो रात हमने गुज़ारी मर के,
वो रात तुमने गुज़ारी होती…


(9)

हर तन्हा रात में इंतज़ार है उस शख़्स का,
जो कभी कहा करता था…
तुमसे बात न करूँ तो रात भर नींद नहीं आती…

Raat Ka Andhera Shayari

(10)

याद तेरी बड़ी सताती है,
रातों को नींद नही आती है,
पर जब तेरी सूरत देख लेता हूँ,
फिर बड़ी गहरी नींद आती है…


(11)

दिन हुआ है तो रात भी होगी,
हो मत उदास कभी बात भी होगी,
इतने प्यार से दोस्ती की है,
जिन्दगी रही तो मुलाकात भी होगी…


(12)

उफ… ये गजब की रात और ये ठंडी हवा का आलम,
हम भी खूब सोते …अगर उनकी बांहो में होते…


(13)

तुम किस लिए जगाते हो यूँ रातों में,
नींद आती नहीं ख्वाइश-ऐ-मुलाक़ातों में,
लिपट गई है हसरतें यादों से इस तरह,
ज़िन्दगी मदहोश है तेरे ख्यालातों में…