Nazar Shayari in Hindi - नज़र शायरी

Nazar Shayari in Hindi

(1)

इस नजर ने उस नजर से बात करली,
रहे खामोश मगर फिर भी बात करली,
जब मोहब्बत की फ़िज़ा को खुश पाया,
तो दोनों निगाहों ने रो रो कर बरसात करली…


(2)

तेरी पहली मुलाकात जिन्दगी में एक बहार लाई थी,
हर आईने में तेरी तस्वीर मुझे नजर आई थी,
लोग कहते हैं प्यार में नींद उड़ जाती है,
हमने तो नींदों में ही प्यार की दुनिया बनाई थी…


(3)

मेरी नजरो को आज भी तलाश है तेरी,
बिन तेरे ख़ुशी भी उदास है मेरी,
खुदा से मांगा है तो सिर्फ इतना,
मरने से पहले आपसे मुलाक़ात हो मेरी…

Nazar Shayari 2 Line

(4)

आप ने कसम खाई थी दोस्ती निभाने की,
फिर क्यों करते हो बातें हमे सताने की,
हम इसलिए लड़ते है सबके सामने,
क्योंकि नजर लग जाती है रिश्तों को जमाने की…


(5)

उतरा है मेरे दिल में कोई चाँद नगर से,
अब खौफ ना कोई अंधेरों के सफ़र से,
वो बात है तुझ में कोई तुझ सा नहीं है,
कि काश कोई देखे तुझे मेरी नजर से…

Teri Nazar Shayari

(6)

राख़ जिगर की यूँ उड़ाने लगा हैं वो,
आँखों में अब नजर आने लगा हैं वो,
मोहब्बत की हदें देखना चाहता हैं हमारी,
सब्र हमारा अब आजमाने लगा हैं वो..


(7)

निकाल दे अपने दिल से हर डर को,
नजारे मिलेंगे नए फिर तेरी नजर को,
दामन भर जाएगा सितारों से तेरा,
ये दुनिया देखेगी तब तेरे उभरते हुनर को…

Nazar Churana Shayari

(8)

खुशबू बनकर तेरी साँसों में समा जायेंगे,
सुकून बनकर तेरे दिल में उतर जायेंगे,
महसूस करने की कोशिश तो कीजिये एक बार,
दूर रहते हुए भी हम पास नजर आएंगे…


(9)

तुझे देख कर ये जहां रंगीन नजर आता है,
तेरे बिना दिल को चैन कहां आता है,
तू ही है मेरे इस दिल की धड़कन,
तेरे बिना ये जहां बेकार नज़र आता है…


(10)

फूल खिलते हैं बहारों का समा होता है,
ऐसे मौसम में ही तो प्यार जवां होता है,
दिल की बातों को होठों से नहीं कहते,
ये फ़साना तो नजर से बयाँ होता है…