Nasha Shayari Status in Hindi - नशा शायरी

Nasha Shayari in Hindi

(1)

नशा तब दोगुना होता है जनाब,
जब जाम भी छलके और आँख भी छलके…


(2)

सुनो दोस्तो अच्छा एक सिगरेट पी के आता हूँ,
एक याद फसी है उसे धुए में उड़ा के आता हूँ…


(3)

दिल में आग सी है चेहरा गुलाब जैसा है,
कि ज़हर-ए-ग़म का नशा भी शराब जैसा है,
इसे कभी कोई देखे कोई पढ़े तो सही,
दिल आइना है तो चेहरा किताब जैसा है…


(4)

वो भी दिन थे जब हम भी पिया करते थे,
यूँ न करो हमसे पीने पिलाने की बात,
जितनी तुम्हारे जाम में है शराब,
उतनी हम पैमाने में छोड़ दिया करते थे…


(5)

नशा पिला के गिराना तो
सब को आता है,
मज़ा तो तब है कि
गिरतों को थाम ले साक़ी…

2 Lines Nasha Shayari

(6)

छीनकर हाथों से जाम
वो इस अंदाज़ से बोली,
कमी क्या है इन होठों में
जो तुम शराब पीते हो…


(7)

वो पिला कर जाम लबों से
अपनी मोहब्बत का,
अब कहते हैं नशे की आदत
अच्छी नहीं होती…


(8)

पीने से कर चुका था मैं तौबा दोस्तों,
बादलो का रंग देख नीयत बदल गई…


(9)

तन्हाइओं के आलम की ना बात करो दोस्त,
वर्ना बन उठेगा जाम और बदनाम शराब होगी…


(10)

पी लिया करते हैं जीने की तमन्ना में कभी,
डगमगाना भी जरूरी है संभलने के लिए…