Narazgi Shayari in Hindi - नाराजगी शायरी

Narazgi Shayari in Hindi
नाराजगी शायरी

(1)
क्यों नाराज़ होते हो मेरी इन नादान हरकतों से,
कुछ दिन की ज़िन्दगी है,
फिर चले जाएंगे तुम्हारे इस जहाँ से…


(2)
मेरी नाराज़गी को मेरी,
बेवफ़ाई मत समझना,
नाराज़ भी उसी से होते है,
जिससे बेइंतिहा मोहब्बत हो…


(3)
जब तड़पेगी तू प्यास से,
तूझे वो बादल याद आएगा,
जब छोड़ जाएगा तूझे वो,
तब तूझे ये पागल याद आएगा…


(4)
हमसे कोई खता हो जाए तो माफ़ करना,
हम याद ना कर पाएं तो माफ़ करना,
दिल से तो हम आपको कभी भूलते नहीं,
पर ये दिल ही रुक जाए तो माफ़ करना…


(5)
बेशक मुझपे गुस्सा करने का हक है तुम्हे,
पर नाराजगी में हमारा प्यार मत भूल जाना…

Narazgi Status in Hindi

(6)
कब तक रह पाओगे आखिर यूँ दूर हमसे,
मिलना पड़ेगा कभी न कभी ज़रूर हमसे,
नज़रे चुराने वाले ये बेरुखी है कैसी,
कह दो अगर हुआ है कोई कसूर हम से…


(7)
चेहरे अजनबी हो जाये तो कोई बात नही लेकिन,
रवैये अजनबी हो जाये तो बडी तकलीफ देते हैं…


(8)
नाराज़गी हो तो जता लेना,
लेकिन नफ़रत न करना,
चाहत किसी और हो जाएं तो बता देना,
बस बेवफाई न करना…


(9)
किस बात पर खफा हो,
यह जरूर बता देना,
अक्सर दिल में छुपी नाराजगी से,
रिश्तों की डोर कमजोर हो जाती है…


(10)
तुम खफा हो गए तो कोई ख़ुशी ना रहेगी,
तुम्हारे बिना चिरागो में रौशनी न रहेगी,
क्या कहे क्या गुज़रेगी इस दिल पर,
ज़िंदा तो रहेंगे पर ज़िन्दगी ना रहेगी…