Mehnat Shayari in Hindi - मेहनत पर शायरी

Mehnat Shayari in Hindi

(1)

दुनिया के सारे शौक पाले नही जाते,
कांच के खिलौने हवा में उछाले नही जाते,
परिश्रम करने से जीत हो जाती है आसान,
क्योंकि हर काम तक़दीर के भरोसे टाले नही जाते…


(2)

ना पूछो के मंजिल का पता क्या है,
अभी बस सफर है सफर का दीदार होने दो,
रूठ जाये अगर तक़दीर तो मनाकर देखो,
फूल मेहनत के हथेली पर उगाने तो दो…

Mehnat Ka Fal Shayari

(3)

टूटने लगे हौसले तो ये याद रखना,
बिना मेहनत के तख्तो-ताज नहीं मिलते,
ढूंढ़ लेते हैं अंधेरों में मंजिल अपनी,
क्योंकि जुगनू कभी रौशनी के मोहताज़ नहीं होते…


(4)

कर्म भूमि पर फ़ल के लिए,
श्रम सबको करना पड़ता हैं,
रब सिर्फ़ लकीरें देता हैं,
रंग हमको भरना पड़ता हैं…


(5)

संघर्ष में आदमी अकेला होता है,
सफलता में दुनिया उसके साथ होती है,
जिस-जिस पर ये जग हँसा है,
उसीने इतिहास रचा है…

(6)

रात नहीं ख्वाब बदलता है,
मंजिल नहीं कारवाँ बदलता है,
जज्बा रखो जीतने का क्यूंकि,
किस्मत बदले न बदले ,
पर वक्त जरुर बदलता है…


(7)

पसीने की स्याही से जो लिखते है,
अपने इरादों को…
उनके मुकद्दर के पन्ने कभी कोरे नहीं हुआ करते…!!

Hard Work Shayari in Hindi

(8)

बूझी शमां भी जल सकती है,
तूफ़ान से कश्ती भी निकल सकती है,
होके मायूस यूँ ना अपने इरादे बदल,
तेरी किस्मत कभी भी बदल सकती है…


(9)

जीतेंगे हम ये ख़ुद से वादा करों,
कोशिश हमेशा ज्यादा करों,
किस्मत भी रूठे पर हिम्मत न टूटे,
मजबूत इतना अपना इरादा करो…


(10)

अपने हौसलों के बल पर हम,
अपनी प्रतिभा दिखा देंगे,
भले कोई मंच ना दे हमको,
हम मंच अपना बना लेंगे…