Lamha Shayari in Hindi - लम्हा शायरी

Lamha Shayari in Hindi

(1)
जलने दो ज़माने को चलो एक साथ चलते हैं,
नयी दुनिया बसाने को चलो एक साथ चलते हैं,
हमें जीवन का हर लम्हा तुम्हारे नाम करना है,
यही वादा निभाने को चलो एक साथ चलते हैं…


(2)
लाख बंदिशें लगा ले दुनिया हम पर,
मगर दिल पर काबू नहीं कर पाएंगे,
वो लम्हा आखिरी होगा ज़िन्दगी का हमारा,
जिस दिन हम यार तुझे भूल जायेंगे…


(3)
हर लम्हा अपनी पलकों पर बिठाया तुझे,
फिर भी ये इश्क़ मेरा न रास आया तुझे,
किस्मत की भी है यह अजीब दास्ताँ,
कभी हसाया तो कभी रुलाया मुझे…


(5)
यादें करवट बदल रही हैं
और मैं तनहा तनहा सा हूँ,
वक़्त भी जिससे रूठ गया है
मैं वो बेबस लम्हा हूँ…

Lamhe Shayari

(6)
बस गए हो दिल में इस कदर आप हमारे,
की किसी और शख्स का ख्याल तक नहीं आता,
गुजर जाती हैं रातें आँखों ही आँखों में,
दिल को एक लम्हा भी चैन नहीं आता…


(7)
मेरा हर लम्हा चुरा लिया आपने,
आँखों को एक चाँद दिखा दिया आपने,
हमें ज़िन्दगी दी किसी और ने,
पर प्यार इतना देकर जीना सिखा दिया आपने…


(8)
इस दिल को अगर तेरा एहसास नहीं होता,
तू दूर भी रह कर के यूँ पास नहीं होता,
इस दिल ने तेरी चाहत कुछ ऐसे बसाली है,
एक लम्हा भी तुझ बिन कुछ खास नहीं होता…


(9)
दिल से रोये मगर होंठो से मुस्कुरा बैठे,
यूँ ही हम किसी से वफ़ा निभा बैठे,
वो हमे एक लम्हा न दे पाए प्यार का,
और हम उनके लिये जिंदगी लुटा बैठे…


(10)
सपनो में एक प्यारा दोस्त रोज़ आता है,
साथ गुज़रे हर लम्हे की याद दिलाता है,
दिल करता है ये लम्हा यूँ ही रुका रहे,
पर सुबह होते ही ख्वाब टूट जाता है…