Kisan Shayari in Hindi - किसान पर शायरी

Kisan Shayari in Hindi

(1)

नही हुआ हैं अभी सवेरा,
पूरब की लाली पहचान,
चिडियों के उठने से पहले,
खाट छोड़ उठ गया किसान…


(2)

भगवान का सौदा करता हैं,
इंसान की क़ीमत क्या जाने?
जो धान की क़ीमत दे न सके
वो जान की क़ीमत क्या जाने?

Kisan Status / किसान पर शायरी

(3)

देवताओं से भी हल नहीं हुई,
जिन्दगी कही सरल नही हुई,
कि अबके साल फिर यही हुआ,
अबके साल फिर फसल नही हुई…


(4)

जमीन जल चुकी है आसमान बाकी है,
सूखे कुएँ तुम्हारा इम्तहान बाकी है,
वो जो खेतों की मेढ़ों पर उदास बैठे हैं,
उनकी आखों में अब तक ईमान बाकी है,
बादलों बरस जाना समय पर इस बार,
किसी का मकान गिरवी तो किसी का लगान बाकी है…


(5)

जब कोई किसान या जवान मरता है,
तो समझना पूरा हिन्दुस्तान मरता है,
देर शाम खेत से किसान घर नहीं आता है,
तो बच्चों का मासूम दिल सहम जाता है…

Farmer Shayari in Hindi

(6)

मेरी नींद को दिक्कत ना भजन से ना अजान से है,
मेरी नींद को दिक्कत पिटते हुवे जवान,
और खुदखुशी करते किसान से है…


(7)

मत मारो गोलियो से मुझे,
मैं पहले से एक दुखी इंसान हूँ,
मेरी मौत कि वजह यही हैं,
कि मैं पेशे से एक किसान हूँ…

Kisan Ki Dard Bhari Shayari

(8)

जो धरापुत्र का वध कर दे,
वह राजपुरूष नाकारा हैं,
जिस धरती पर किसान का रक्त गिरे,
उसका शासक हत्यारा हैं…


(9)

परिश्रम की मिशाल हैं,
जिस पर कर्जो के निशान हैं,
घर चलाने में खुद को मिटा दिया,
और कोई नही वह किसान हैं…


(10)

छोटे छोटे हाथों में छाले हो जाते हैं,
किसान के बच्चे इसलिए दिलवाले हो जाते हैं,
यही बॉर्डर पर सेना में कुर्बान हो जाते हैं,
किसान के बच्चे वक़्त से पहले जवान हो जाते हैं…