Ignore Shayari in Hindi - इग्नोर करने वाली शायरी

Ignore Shayari in Hindi

(1)
इग्नोर तो कर रहे हो पर,
खोकर हमे पा ना सकोगे,
जहां हम है वहाँ आ ना सकोगे,
हमे महसूस तो कर लोगे पर
होंगे वहाँ जहां से वापस बुला ना सकोगे…


(2)
तेरी बेरुखी का इक दिन, ये ही अंजाम होगा,
आखिर भुला ही देंगे तुझे, याद करते करते..


(3)
वो हमे कुछ इस तरह से करते है इग्नोर,
कि हमारा दिल कहता है ‘Love Her’ थोड़ा और, थोड़ा और…


(4)
जब मोहब्बत में किसी से रूठिए तो शिकायत कीजिए उनसे
क्योंकि सच्चे आशिक, अपने प्रेमी को इग्नोर नहीं करते…


(5)
उनकी फिक्र करना छोड़ दो जो आपको इग्नोर करते हो,
और उनकी फिक्र करो जो आपके लिए दूसरों को इग्नोर करते हो…


(6)
अपनाने के लिए हज़ार खूबियां भी कम है,
छोड़ने के लिए एक कमी ही काफी है…


(7)
तेरा ऑनलाइन रह कर भी मुझे रिप्लाइ ना करना मुझे बहुत रुलाता है,
अक्सर जो दिल से प्यार करता है वही अपने गम छिपाता है….


(8)
नजरंदाज मत करना कभी अगर कभी मेरा पैगाम को,
एक बार खोल कर देखना उसे क्योकि तुमने मोहब्बत करना सिखाया था मुझे शायद उसी का अंजाम हो…


(9)
सच्चा प्यार है तभी तो इंतेजार है,
वरना आज के जमाने में
एक के बाद दूसरा तैयार है…


(10)
तुम्हारे गुस्सा होने पर पहले बुरा लगता था,
फिर गुस्सा आने लगा,
फिर कुछ फील ही नहीं होता और
देखना एक दिन फर्क पड़ना भी बंद हो जाएगा…