Guzarish Shayari in Hindi - गुजारिश शायरी

Guzarish Shayari in Hindi
गुजारिश शायरी

(1)
मुझे भी समेट लेगी एक रोज़,
उस अँधेरे घर की दहलीज,
तुमसे गुज़ारिश है कि माफ़ कर देना,
उन खताओं को जिनसे दिल दुखा हो तुम्हारा…


(2)
करनी है खुदा से गुजारिश,
तेरी दोस्ती के सिवा कोई बंदगी न मिले,
हर जनम में मिले दोस्त तेरे जैसा,
या फिर कभी जिंदगी न मिले…


(3)
मुझे कुछ भी नहीं कहना बस इतनी गुजारिश है,
बस उतनी बार मिल जाओ जितना याद आते हो…


(4)
मैंने यही रब से एक गुजारिश की है,
तेरे चेहरे पे हँसी की सिफारिश की है…


(5)
ख़ुशी से दिल को आबाद करना,
और गम को दिल से आजाद करना,
हमारी बस इतनी गुजारिश है कि,
दिन में हमें एक बार याद करना…


(6)
चंद लम्हों की जिंदगानी है,
नफरतों से जिया नहीं करते,
दुश्मनों से गुजारिश करनी पड़ेगी,
दोस्त तो अब याद किया नहीं करते…