Galti Shayari in Hindi - गलती शायरी

Galti Shayari in Hindi

(1)
इस कदर मेरे प्यार का इम्तिहान मत लीजिए,
खफा हो क्यों ये तो बता दीजिए ,
माफ कर दो अगर हो गई कोई गलती,
ऐसे रूठ करके हमे सजा मत दीजिये…


(2)
सारी गलती हम अपनी किस्मत की कैसे निकल दें,
कुछ साथ हमारा तेरी अमीरी ने भी तोडा है…


(3)
कितना उदास है कोई तेरे जाने से
हो सके तो लौट आ किसी बहाने से
तू लाख खफा सही, एक बार तो देख
कोई बिखर सा गया है तेरे जाने से…


(4)
छलकते आंसुओं को पलकों में छुपा नहीं सकता,
मेरे कदम रोकते हैं मुझको उसके पास जा नहीं सकता,
न जाने किसकी गलती थी कोई रूठ गया था मुझसे,
आज उसे मनाने की ख्वाहिश तो है बहुत…
पर दिल मजबूर है इतना कि उसे मना नहीं सकता…


(5)
उससे कह दो कि
मेरी सज़ा कुछ कम कर दे,
हम पेशे से मुज़रिम नहीं हैं
बस गलती से इश्क हुआ था…

Galti Ka Ehsaas Shayari

(6)
न तेरी शान कम होती न रुतबा ही घटा होता,
जो गुस्से में कहा तुमने वही हँस के कहा होता…


(7)
रूठ कर कुछ और भी हसीन लगते हो,
बस यही सोच कर तुम को खफा रखा है…


(8)
अहंकार दिखाके किसी रिश्ते को तोड़ने से अच्छा है,
कि माफ़ी मांगकर वो रिश्ता निभाया जाये…


(9)
गुस्से में कुछ और भी हसीन लगते हो,
बस यही सोच कर तुमको खफा रखा है….


(10)
कैसे आपको हम मनाए बस एक बार बतादो
मेरी गलती मेरा कसूर मुझे याद दिला दो….