Fake Friends Shayari in Hindi - मतलबी दोस्त शायरी

Fake Friends Shayari in Hindi

(1)
बुरे वक़्त में भी एक अच्छाई होती है,
जैसे ही ये आता है,
फ़ालतू के दोस्त विदा हो जाते है…


(2)
जीने का मतलब मैंने प्यार से पा लिया,
जिसका भी ग़म मिला उसे अपना बना लिया,
आप रोकर भी ग़म न हल्का कर सके,
मैंने हँसी की आढ़ में हर ग़म छुपा लिया…


(3)
कौन दोस्त है और कौन दुश्मन
ये चेहरे या फिर बातें नहीं सिर्फ वक़्त बताता है…


(4)
दंग रह गया मैं मेरे दोस्तों की ये खामी देख कर,
खुश थे वो सभी मेरी नाकामी देख कर…


(5)
काश हमारे वादों का मतलब वो समझते,
काश उस खामोशी का मतलब वो समझते,
नजर मिलती है हज़ारों नजरों से,
काश हमारी नज़रों का मतलब वो समझते…


(6)
अगर कुछ सीखना ही है,
तो आँखों को पढ़ना सीख लो,
​वरना ​लफ़्ज़ों के मतलब तो,
​हजारों निकाल लेते है…


(7)
जिनके बुरा वक़्त पर मैंने कभी साथ नहीं छोड़ा,
आज वही मेरे बुरे वक़्त पर मुझे दूर से देख कर ही हाथ जोड़ लेते हैं…


(8)
ये सोच कर मैंने अपनी आस्तीन नहीं झटकी की
ना जाने कितने सांप मेरे वजह से बेघर हो जाएंगे…


(9)
हुनर दोस्ती का हम दोनों ही दिखा रहे थे,
वो दिमाग लगा रहे थे और हम दोस्ती दिल से निभा रहे थे…


(10)
जो हर क़दम साथ चलने को तैयार थे मुसीबत आते ही उन्होंने रास्ता बदल दिया…