Election Shayari Status in Hindi - चुनाव शायरी

Election Shayari in Hindi

(1)

जरूरत पर सब यार होते हैं,
जरूरत न हो तो पलट कर वार होते हैं,
चुनाव नजदीक आ रहा हैं बच के रहना,
क्योंकि ज्यादातर नेता गद्दार होते हैं…


(2)

जो बोला सत्य तो हड़कंप जैसे, मच गया देखो,
जला इक दीप तो आंतक जैसे, मच गया देखो,
सभी बेईमान हैं हैराँ, हुआ क्या है शहर भर को,
कि भाई सा इक संत कैसे, जँच गया देखो…

Election Shayari BJP

(3)

जो धरापुत्र का वध कर दे,
वह राजपुरूष नाकारा हैं,
जिस धरती पर किसान का रक्त गिरे,
उसका शासक हत्यारा हैं…


(4)

फ़दाली कर रहे हैं रोज निंदा, बात कुछ होगी,
अकेले उड़ रहा है जो परिंदा, बात कुछ होगी,
ठगी के दौर में बेईमानियों के, बीच में रह के,
किसी में अब भी है ईमान ज़िंदा, बात कुछ होगी…


(5)

राजनीति का रंग भी बड़ा अजीब होता हैं,
वही दुश्मन बनता है जो सबसे करीब होता हैं…


(6)

सरहदों पर बहुत तनाव है क्या,
कुछ पता तो करो चुनाव है क्या,
और खौफ बिखरा है दोनों समतो में,
तीसरी समत का दबाव है क्या…


(7)

मैं अपनी आँख पर चशमाँ चढ़ा कर देखता हूँ,
हुनर ज़ितना हैं सारा आजमा कर देखता हूँ,
नजर उतना ही आता हैं की ज़ितना वो दिखाता है,
मैं छोटा हू मगर हर बार कद अपना बढ़ा कर देखता हूँ…

Election Prachar Shayari

(8)

बदल जाओ वक्त के साथ,
या फिर वक्त बदलना सीखो,
मजबूरियों को मत कोसो,
हर हाल में चलना सीखो…


(9)

यदि सच के मुहाफ़िज़ हैं, तो क्यों नज़रें चुराते हैं,
करें अब सामना खुलकर, वो क्यों चेहरा छिपाते हैं,
है भगदड़ बेईमानों में, यूँ भाई के डर से,
के जैसे शेर आता है, तो गीदड़ भाग जाते हैं…


(10)

सिर्फ़ हंगामा खड़ा करना मेरा मक़्सद नहीं,
मेरी कोशिश है कि ये सूरत बदलनी चाहिए…