Ehsaan Shayari in Hindi - एहसान शायरी

Ehsaan Shayari in Hindi

(1)

तेरा एहसान हम कभी नही चुका सकते,
तु अगर माँगे जान तो इनकार नही कर सकते,
माना जिन्दगी लेती है इम्तिहान बहुत,
तु अगर हो साथ तो हम कभी हार नहीं सकते…


(2)

तक़दीर लिखने वाले एक एहसान कर दे,
मेरे दोस्त की तक़दीर में एक और मुस्कान लिख दे,
न मिले कभी दर्द उनको,
तू चाहे तो उसकी किस्मत मे मेरी जान लिख दे…


(3)

मेरी सांसो पर नाम बस तुम्हारा है,
मैं अगर खुश हूं तो ये एहसान तुम्हारा है…

Ehsaan Love Shayari

(4)

सच है एहसान का भी बोझ बहुत होता है,
चार फूलों से दबी जाती है तुर्बत मेरी…


(5)

इस तरह सताया है परेशान किया है,
गोया कि मोहब्बत नहीं एहसान किया है…

(6)

एहसान किसी का वो रखते नहीं मेरा भी लौटा दिया,
जितना खाया था नमक, मेरे जख्मो पर लगा दिया…


(7)

हम दोस्ती एहसान वफ़ा भूल गए हैं,
जिंदा तो है जीने की अदा भूल गए हैं…

Dosti Ehsaan Shayari

(8)

खुशबु जो लुटाती है मसलती है उसी को,
एहसान का बदला यही मिलता है कली को,
एहसान तो लेते है सिला भूल गए हैं…


(9)

एहसान नहीं है जिन्दगी तेरा मुझ पर ,
मैंने हर सांस की यहाँ कीमत दी है…


(10)

कैसे चुकाऊं किश्तें ख्वाहिशों की,
मुझ पर तो ज़रुरतों का भी एहसान चढा हुआ है…