Dar Khauf Shayari Status in Hindi - डर या खौफ शायरी

Dar Khauf Shayari Status in Hindi

(1)
चाह कर भी उनका हाल नहीं पूछ सकते,
डर है कहीं कह ना दे,
कि ये हक्क तुम्हे किसने दिया…


(2)
दिल टूटने का भी कोई डर नहीं रहा मुझे,
प्यार के अहसास में ही गुम होती जा रहीं हूँ मैं…


(3)
डर मुझे भी लगा फासला देख कर,
पर मैं बढ़ता गया रास्ता देख कर,
खुद ब खुद मेरे नजदीक आती गई,
मेरी मंजिल मेरा हौंसला देख कर…


(4)
प्यार करने की अपनी एक रीत है,
प्यार का दूसरा नाम ही तो प्रीत है,
इसलिए ट्राई मारो हर लड़की पर,
क्यों की डर के आगे जीत है…


(5)
इश्क करती हूँ तुझसे अपनी जिंदगी से ज्यादा,
मैं डरतीं हूँ मौत से नही तेरी जुदाई से ज्यादा,
चाहे तो हमे आज़मा कर देख किसी और से ज्यादा,
मेरी जिंदगी में कुछ नही तेरी आशिकी से ज्यादा…

Khone Ka Dar Shayari

(6)
कामयाबी के सफ़र में मुश्किलें तो आएँगी ही,
परेशानियाँ दिखाकर तुमको तो डराएंगी ही,
चलते रहना कि कदम रुकने ना पायें,
अरे मौत से क्या डरना एक दिन तो आएगी ही…


(7)
निकाल दे अपने दिल से हर डर को,
नजारे मिलेंगे नए फिर तेरी नजर को,
दामन भर जाएगा सितारों से तेरा,
ये दुनिया देखेगी तब तेरे उभरते हुनर को…

Maut Ka Khauf Shayari

(8)
डर हम को भी लगता है रस्ते के सन्नाटे से,
लेकिन एक सफ़र पर ऐ दिल अब जाना तो होगा…


(9)
मौसम को मौसम की बहारों ने लूटा,
हमे कश्ती ने नहीं किनारों ने लूटा,
आप तो डर गये मेरी एक ही कसम से,
आपकी कसम देकर हमें तो हज़ारों ने लूटा…


(10)
जिंदगी के ज़हर को यूँ हँस के पी रहे हैं,
तेरे प्यार बिना यूँ ही ज़िन्दगी जी रहे हैं,
अकेलेपन से तो अब डर नहीं लगता हमें,
तेरे जाने के बाद यूँ ही तन्हा जी रहे हैं…