Chehra Shayari in Hindi - चेहरा शायरी

Chehra Shayari in Hindi

(1)

कितना खूबसूरत चेहरा है तुम्हारा,
ये दिल तो बस दीवाना है तुम्हारा,
लोग कहते है चाँद का टुकड़ा तुम्हें,
पर मैं कहता हूँ चाँद भी टुकड़ा है तुम्हारा…


(2)

यदि सच के मुहाफ़िज़ हैं, तो क्यों नज़रें चुराते हैं,
करें अब सामना खुलकर, वो क्यों चेहरा छिपाते हैं,
है भगदड़ बेईमानों में, यूँ भाई के डर से,
के जैसे शेर आता है, तो गीदड़ भाग जाते हैं…

Chehra Shayari 2 Line

(3)

काश मेरे होंठ तेरे होंठों को छू जाए,
देखूं जहा बस तेरा ही चेहरा नज़र आए,
हो जाए हमारा रिश्ता कुछ ऐसा,
होंठों के साथ हमारे दिल भी जुड़ जाए…


(4)

हमें चाँद जैसा चेहरा देखने की इज़ाज़त दे दो,
एक प्यारी सी शाम सजाने की इज़ाज़त दे दो,
हमें कैद कर लो अपने मोहब्बत के जाल में,
या हमें आपको मोहब्बत करने की इज़ाज़त दे दो…


(5)

ऐ चाँद चमकना छोड़ भी दे,
तेरी चाँदनी मुझको सताती हैं,
तेरे जैसा ही उसका चेहरा हैं,
तुझे देखके वो याद आती हैं…

(6)

सारी उम्र आँखों में एक सपना याद रहा,
सदियाँ बीत गयी पर वो लम्हा याद रहा,
ना जाने क्या बात थी उनमे और हम में,
सारी महफ़िल भूल गए बस वो चेहरा याद रहा…


(7)

दुनियाँ को इसका चेहरा दिखाना पड़ा मुझे,
पर्दा जो दरमियां था हटाना पड़ा मुझे,
रुसवाईयों के खौफ से महफिल में आज,
फिर इस बेवफा से हाथ मिलाना पड़ा मुझे…

Chehra Aaina Shayari

(8)

तेरा चेहरा देखेंगे सितारे तो स्याह माँगेंगे,
और प्यासे तेरी ज़ुल्फों से घटा माँगेंगे,
अपने कंधे से दुपट्टे को ना सरकने देना,
वर्ना बूढ़े भी जवानी की दुआ माँगेंगे…


(9)

सिर्फ चेहरा ही नहीं शख्सियत भी पहचानो ,
जिसमें दिखता हो वही आईना नहीं होता…


(10)

भगवान् करे हर साल चाँद बन के आये,
दिन का उजाला बन के आए,
कभी दूर ना हो आपके चेहरे से हँसी,
ये होली का त्यौहार ऐसा मेहमान बन के आये…