Chahat Shayari in Hindi - चाहत शायरी

Chahat Shayari in Hindi

(1)

कांच को चाहत थी पत्थर पाने की,
एक पल में फिर टूट कर बिखर जाने की,
चाहत बस इतनी थी उस दीवाने की,
अपने हज़ार टुकड़ों में उसकी हज़ार तस्वीर सजाने की ❤❤❤


(2)

एक चाहत होती है, जनाब अपनों के साथ जीने की,
वरना पता तो हमें भी है कि..
ऊपर अकेले ही जाना है 😇😇😇


(3)

एक चाहत थी.. तेरे साथ जीने की,
वरना, मोहब्बत तो किसी से भी हो सकती थी

Chahat Shayari by Gulzar

(4)

उसके साथ रहते रहते हमे चाहत सी हो गयी,
उससे बात करते करते हमे आदत सी हो गयी,
एक पल भी न मिले तो न जाने बेचैनी सी रहती है,
दोस्ती निभाते निभाते हमे मोहब्बत सी हो


(5)

मेरी चाहत को अपनी मोहब्बत बना के देख,
मेरी हँसी को अपने होठों पे मुस्कुरा के देख,
मेरे आंसू को अपनी आँखों से गिरा के देख,
मेरी तड़प को अपने दिल से महसूस कर के देख,
ये मोहब्बत एक हसीं तोहफा है ए जान…
कभी मोहब्बत को मोहब्बत की तरह भी निभा के देख

Chahat Bhari Shayari

(6)

मेरी चाहत ने उसे खुशी दे दी,
बदले में उसने मुझे सिर्फ खामोशी दे दी,
खुदा से दुआ मांगी मरने की लेकिन,
उसने भी तड़पने के लिए जिन्दगी दे दी


(7)

चाहत वो नहीं जो जान देती है,
चाहत वो नहीं जो मुस्कान देती है,
ऐ दोस्त चाहत तो वो है,
जो पानी में गिरा आंसू पहचान लेती हैं 😍😍😍


(8)

चलो अपनी चाहतें नीलाम करते हैं,
मोहब्बत का सौदा सरे आम करते है,
तुम अपना साथ हमारे नाम कर दो,
हम अपनी ज़िन्दगी तुम्हारे नाम करते हैं…


(9)

तडप के देख किसी की चाहत मे,
तो पता चले के इंतज़ार क्या होता है,
यु मिल जाए अगर कोई बिना तडप के,
तो कैसे पता चले के प्यार क्या होता है…


(10)

तुम्हारी पसन्द हमारी चाहत बन जाये,
तुम्हारी मुस्कुराहट दिल की राहत बन जाये,
खुदा खुशियो से इतना खुश कर दे आपको,
की आपकी ख़ुशी देखना हमारी आदत बन जाये 😊😊😊