Care Shayari in Hindi - परवाह शायरी

Care Shayari in Hindi

(1)
दूरियों की ना परवाह कीजिये,
दिल जब भी पुकारे बुला लीजिये,
कहीं दूर नहीं हैं हम आपसे,
बस अपनी पलकों को आँखों से मिला लीजिये…


(2)
बस तेरे होने से मिली मेरी धडकनों को जिंदगी,
तेरे बिना अब सांस लूँ मेरे लिए मुमकिन नहीं,
महसूस ये होता है तू मेरे लिए है जरुरी है,
तेरे बिना लम्हें चलें अब तो ये भी मुमकिन नहीं…


(3)
ज़मीं पर रह कर आसमां
छूने की फितरत है मेरी,
पर गिरा कर किसी को,
ऊपर उठने का शौक़ नहीं मुझे…


(4)
प्यार की कली सब के लिए खिलती नहीं,
चाहने पर हर एक चीज मिलती नहीं,
सच्चा प्यार किस्मत से मिलता है,
और हर किसी को ऐसी किस्मत मिलती नहीं…


(5)
दौलत नही, शोहरत नही
ना वाह वाह चाहिए,
कहाँ हो? कैसे हो?
दो लब्जो की परवाह चाहिए…


(6)
दुनिया का यही दस्तूर है,
तुम जिसकी जितनी “Care” करों,
उसे उतना ही कम लगता है…


(7)
बातों बातों में उलझाना कोई आपसे सीखे,
दिल को ऐसे बहलाना कोई आपसे सीखे,
कैसे तड़पाते है चाहने वाले को अपने अदाओं से
सितम करना कोई आपसे सीखे…


(8)
ना कोई बता पाया है,
ना ही कोई बता पायेगा,
मेरी मोहब्बत इतनी गहरी है,
कि गूगल भी शर्मा जाएगा…


(9)
अच्छा लगता है,
जब कोई कहता है,
कोई बात नही
मैं हूँ ना तुम्हारे साथ…


(10)
ख़ूबसूरत सा एक पल किस्सा बन जाता है,
जाने कब और कौन जिंदगी का हिस्सा बन जाता हैं…