Bhulna Shayari in Hindi - भूलना शायरी

Bhulna Shayari in Hindi

(1)

कितनी आसानी से कह दिया तुमने,
कि बस अब तुम मुझे भूल जाओ,
साफ साफ लफ्जो मे कह दिया होता,
की बहुत जी लिये अब तुम मर जाओ…


(2)

वक़्त बदल जाते है, लोग बदल जाते है,
और सब एक दूसरे को भूल जाते है,
नही सीखा हमने वक़्त के साथ बदलना,
शायद इसीलिए आप हमें इतना याद आते है…

(3)

सारी उम्र आँखों में एक सपना याद रहा,
सदियाँ बीत गयी पर वो लम्हा याद रहा,
ना जाने क्या बात थी उनमे और हम में,
सारी महफ़िल भूल गए बस वो चेहरा याद रहा…


(4)

सौ बार समझाया इस दिल को हमने,
100 बार दिल टूट गया,
सौ बार उसे भूलने की कसम खायी हमने,
हर बार कसम दिल भूल गया…


(5)

चले गए है कुछ दूर कुछ पल के लिए,
मगर करीब है हर पल के लिए,
कैसे भूल पाएंगे आपको एक पल के लिए,
जब हो चूका है प्यार उम्र भर के लिए…

(6)

पल पल के रिश्ते का वादा है आपसे,
अपनापन कुछ इतना ज़्यादा है आपसे,
ना सोचना के भूल जाएँगे आपको,
ज़िंदगी भर चाहेंगे ये वादा है आपसे…


(7)

रिश्तों को मजबूत बनाने के लिए,
एक छोटा सा उसूल बनाते हैं,
रोज कुछ अच्छा याद रखते हैं,
और कुछ बुरा भूल जाते है…

Bhulna Love Shayari

(8)

सारी उम्र आँखों में एक सपना याद रहा,
सदियाँ बीत गयी पर वो लम्हा याद रहा,
ना जाने क्या बात थी उनमे और हम में,
सारी महफ़िल भूल गए बस वो चेहरा याद रहा…


(9)

हम तुमसे दूर कैसे रह पाते,
दिल से तुमको कैसे भूला पाते,
काश तुम आईने में बसे होते,
ख़ुद को देखते तो तुम नज़र आते…


(10)

मैं लोगों से मुलाक़ातों के लम्हें याद रखता हूँ,
मैं बातें भूल भी जाऊं पर लहज़े याद रखता हूँ,
जरा सा हट के चलता हूँ ज़माने की रवायत से,
जो सहारा देते हैं वो कन्धे हमेशा याद रखता हूँ…