Bhul Gaye Shayari in Hindi - भूल गए शायरी

Bhul Gaye Shayari in Hindi
भूल गए शायरी

(1)
तुम से छुट कर भी तुम्हें भूलना आसान न था,
तुम को ही याद किया तुम को भुलाने के लिए…
निदा फ़ाज़ली


(2)
दूर ही सही मगर तुझसे प्यार तो है,
तेरे इन्कार के बाद भी इंतज़ार तो है,
अगर आसान होता भूलना, तो भूल जाते,
पर आज भी ये दिल बेक़रार तो है…


(3)
भूल से कोई भूल हो गई तो
भूल समझ कर भूल जाना,
अरे भूलना सिर्फ भूल को
भूल से हमे ना भूल जाना…


(4)
भूल जा अब तू मुझे आसान है तेरे लिए,
भूलना तुझको नहीं आसां मगर मेरे लिए…


(5)
जिन्हें हम भूलना चाहें वो अक्सर याद आते हैं,
बुरा हो इस मोहब्बत का वो क्यूँ कर याद आते हैं…

(6)
किसी सुर्ख लब के चमक सी दिये की लौ मचलती थी,
जहाँ की थी कभी पूजा वो मन्दिर आज याद आते हैं…


(7)
तुम्हारे पास हूँ लेकिन जो दूरी है, समझता हूँ,
तुम्हारे बिन मेरी हस्ती अधूरी है, समझता हूँ,
तुम्हें मैं भूल जाऊँगा ये मुमकिन है नहीं लेकिन,
तुम्हीं को भूलना सबसे जरूरी है, समझता हूँ…
डॉ. कुमार विश्वास


(8)
तू मेरी बरबादियों के जश्न में शामिल रहा,
ये तसव्वुर ही बहुत आराम देता है मुझे…


(9)
उससे बिछड़े तो मालूम हुआ मौत भी कोई चीज़ है,
ज़िन्दगी वो थी जो उसकी महफ़िल में गुज़ार आए…


(10)
जीने की ख्वाइश में हर रोज़ मरते हैं,
वो आये न आये हम इंतज़ार करते हैं,
जूठा ही सही मेरे यार का वादा,
हम सच मानकर ऐतबार करते हैं…