Banke Bihari Shayari in Hindi - बांके बिहारी शायरी

Banke Bihari Shayari
दोस्तों श्रीकृष्ण को बांके बिहारी भी कहा जाता है। कहा जाता है की स्वामी हरिदास जी के आग्रह पर भगवान श्रीकृष्ण और राधा ने ये रूप लिया था। तो चलिए इस पोस्ट के माध्यम से हम कुछ दिल को छू लेने वाली Banke Bihari Shayari पढ़ते हैं।

Banke Bihari Shayari in Hindi | बांके बिहारी शायरी

ए जन्नत अपनी औकात में रहना हम तेरी जन्नत के मोहताज नही हम श्री बांकेबिहारी के चरणों में रहते है वहां तेरी भी कोई औकात नही 🥰
रीकृष्ण ज़िनका नाम है, गोकुल ज़िनका धाम है ! ऐसे श्रीकृष्ण को मेरा, बारम्बार प्रणाम है…
दुनियां वालों ने कोशिश बहुत की हमें रुलाने की, मगर बांके बिहारी ने जिम्मेदारी उठा रखी है हमें हंसाने की 🙏
बाजार के रंगो में रंगने की मुझे जरुरत नही, मेरे बांके बिहारी की याद आते ही ये चेहरा गुलाबी हो जाता है…
अजीब नशा है, अजीब खुमारी है, हमे कोई रोग नहीं बस, जय श्री श्री बांकेबिहारी बोलने बीमारी है…
जानते हो फिर भी अंजान बनते हों इस तरह क्यों हमें परेशान करते हों पुछते हो तुम्हें क्या क्या पंसद है जबाब खुद हो फिर भी सवाल करते हों 🙏
मेरी इस दीवानगी में कुछ कसूर तुम्हारा भी है सांवरे, तुम इतने प्यारे ना होते तो हम इतने दीवाने ना होते…
Read More - Guru Shayari
बांके बिहारी का नाम लो सहारा मिलेगा, ये जीवन न तुमको दुबारा मिलेगा, डूब रही अगर कश्ती मझधार में, कृष्णा के नाम से सहारा मिलेगा 🙏
प्रेम से कृष्णा का नाम जपो दिल की हर इच्छा पूरी होगी कृष्ण आराधना में इतना लीन हो जाओ उनकी महिमा, जीवन खुशहाल कर देगी…
किसी की सूरत बदल गई, किसी की नियत बदल गई, जब से तूने पकड़ा मेरा हाथ, बांकेबिहारी मेरी तो किस्मत ही बदल गई 🙏🙏🙏