Armaan Shayari in Hindi - अरमान शायरी

Armaan Shayari in Hindi

(1)

कभी हम टूटे तो कभी ख्वाब टूटे,
जाने कितने टुकड़ों में अरमान टूटे,
हर टुकड़ा एक आइना है जिंदगी का,
हर आईने के साथ लाखों जज़्बात टूटे…


(2)

ज़िन्दगी के लिए जान जरुरी है,
पाने के लिए अरमान ज़रूरी है,
हमारे पास चाहे हो कितना ही गम,
पर आपके चेहरे पर मुस्कान ज़रूरी है….


(3)

आंसूओ तले मेरे सारे अरमान बह गये,
जिनसे उमीद लगाए थे वही बेवफा हो गये,
थी हूमे जिन चिरागो से उजाले की चाह,
वो चिराग ना जाने किन अंधेरो में खो गये…

Adhure Arman Shayari

(4)

मन में सबका अरमान नहीं होता,
हर कोई दिल का मेहमान नहीं होता,
पर एक बार दिल में समा जाये,
उसे भुलाना आसान नहीं होता….


(5)

ज़रा सी ज़िंदगी है, अरमान बहुत हैं,
हमदर्द नहीं कोई, इंसान बहुत हैं,
दिल के दर्द सुनाएं तो किसको,
जो दिल के करीब है, वो अनजान बहुत हैं…


(6)

ताले लगा दिए दिल को अब उसका अरमान नहीं,
बंद होकर फिर खुल जाए ये कोई दुकान नहीं…