Amitabh Bachchan Shayari in Hindi - अमिताभ बच्चन शायरी

Amitabh Bachchan Shayari in Hindi

(1)
इस जग में जितने जुल्म नही,
उतने सहने की ताकत है,
तानो के शोर में भी रहकर,
सच कहने की आदत है…


(2)
तू खुद की खोज में निकल किस लिए हताश है,
तू चल तेरी वजूद की समय को भी तलाश है…


(3)
असमान्य होने से आप अपने आप को जीवित नहीं रख सकते,
न ही बुद्धिमान होने से,
जो बदलाव के लिए सम्वेदनशील होते हैं,
वो अपने आप को जीवित रख सकते हैं…


(4)
शब्द मेरी पहचान बने तो बेहतर है,
चेहरे का क्या है,
वो तो मेरे साथ ही चला जाएगा…


(5)
छैनी और हथौड़ी की मार जो पत्थर सह सकता है,
वही पत्थर ईश्वर बनकर मन्दिर में रह सकता है…

Motivational Shayari by Amitabh Bachchan

(6)
गिरना भी अच्छा है औकात का पता चलता है,
बढ़ते है जब हाथ उठाने को अपनों का पता चलता है…


(7)
जो तुझसे लिपटी बेड़ियाँ इनको समझना वस्त्र तू,
ये बेड़ियाँ पिघला और बना ले इनको अस्त्र तू…


(8)
मैं कोई तकनीक का इस्तेमाल नहीं करता हूँ,
और न ही मैंने अभिनय का कोई विशेष प्रशिक्षण लिया हूँ,
मैं जो भी कार्य करता हूँ,
वो पूरी मेहनत के साथ ख़ुशी से करता हूँ…


(9)
जब तक ना सफल हो,
नींद चैन को त्यागो तुम,
संघर्ष का मैदान छोड़कर,
मत भागो तुम…


(10)
चरित्र जब पवित्र है,
तो क्यों है ये दशा तेरी,
पापियों को हक़ नही,
कि ले परीक्षा तेरी…