Aitbaar Shayari 2 Lines in Hindi - ऐतबार शायरी

Aitbaar Shayari

(1)
तू देख कि तेरी जफा के बाद रिश्तों का क्या हाल हुआ,
मोहब्बत गयी ऐतबार गया यूं हर रिश्ता हमारा हार गया…


(2)
प्यार में हजारों ज़ख्म खाए हमने,
अफ़सोस उन्हें हम पर ऐतबार नहीं,
मत पूछो क्या बीतती है दिल पर,
जब वो कहते है हमें तुमसे प्यार नहीं…


(3)
वादे पे वो मेरे ऐतबार नहीं करते,
हम ज़िक्रे मोहब्बत सरे आम नहीं करते,
डरता है दिल उनकी रुसवाई न हो जाए,
वो समझते हैं हम उनसे प्यार नहीं करते…


(4)
खुद की हालत का मुझे एहसास नहीं होता,
आंखे तब बरसती हैं जब कोई पास नहीं होता,
दिल से चाहने वाले ही दिल तोड़ देते है,
बस इसी बात का तो ऐतबार नहीं होता…


(5)
जीने की ख्वाइश में हर रोज़ मरते हैं,
वो आये न आये हम इंतज़ार करते हैं,
जूठा ही सही मेरे यार का वादा,
हम सच मानकर ऐतबार करते हैं…

Aitbaar Shayari 2 Lines

(6)
है मौत का इंतज़ार पर उनपे भी ऐतबार है,
देखें पहले वो आते हैं या फिर मौत…


(7)
हाथ कि लकीरों पर ऐतबार कर लेना,
भरोसा हो तो किसी से प्यार कर लेना,
खोना पाना तो नसीबों का खेल है,
ख़ुशी मिलेगी बस थोड़ा इंतज़ार कर लेना…


(8)
मेरी गुफ्तगू के हर अंदाज़ को समझता है,
एक वही है जो मुझपे ऐतबार रखता है,
दूर हो के भी मुझ से है वो इतना करीब,
ऐसा लगता है मेरे आस-पास रहता है…


(9)
क्यों किसी से इतना प्यार हो जाता है,
एक पल का इंतज़ार भी दुश्वार हो जाता है,
लगने लगते हैं अपने भी पराये,
और एक अजनबी पर ऐतबार हो जाता है…


(10)
इस जहाँ में किसी से कभी प्यार मत करना,
अपने कीमती आँसू इस तरह बर्बाद मत करना,
कांटे तो फिर भी दामन थाम लेते हैं,
फूलों पर कभी तुम ऐतबार मत करना…