Fark Hota Hai Khuda Aur Faqeer Mein

Fark Hota Hai Khuda Aur Faqeer Mein Life Zindagi Shayari
Fark Hota Hai Khuda Aur Faqeer Mein,
Fark Hota Hai Kismat Aur Lakeer Mein,
Agar Kuch Chaho Aur Na Mile To Samajh Lena..
Ki Kuch Aur Accha Likha Hai Takdeer Mein…


फर्क होता है खुदा और फ़क़ीर में,
फर्क होता है किस्मत और लकीर में..
अगर कुछ चाहो और न मिले तो समझ लेना..
कि कुछ और अच्छा लिखा है तक़दीर में।


Aurat Shayari – Mein Ek Uljhi Si Paheli Hoon

Aurat Shayari Wallpaper Mein Ek Uljhi Si Paheli Hoon
Aurat Shayari
Mein Ek Uljhi Si Paheli Hoon
Khud Ki Suljhi Si Saheli Hoon
Chandni Raat Mein Sapne Bunti Hoon
Din Ke Ujale Mein Unko Dhundhti Hoon…


औरत शायरी
मैं एक उलझी सी पहेली हूँ
खुद की सुलझी सी सहेली हूँ
चाँदनी रात में सपनो को बुनती हूँ
दिन के उजाले में उनको ढूंढती हूँ…